Uncategorized

China की समुन्द्र में फिर दादागिरी, किया इन द्वीपों पर कब्जा …

पूरी दुनिया Covid-19 महामारी से जूझ रही है और उधर China लगातार South China Sea में अपनी उपस्थिति बढ़ा रहा है!Asia-Pacific researchers का मानना है कि यदि है विवाद और ज्यादा बढ़ता है तो चीन के कारण South China Sea के क्षेत्र में राजनीतिक संबंध और भी ज्यादा खराब हो सकते हैं और क्षेत्र में अस्थिरता आ सकती है!

इन द्वीपों पर जताया अपना अधिकार!

china, south china sea, Vietnam, Taiwan, Spartly Islands, Paracel Islands, aggression, dispute

South China Sea Map Pic Credit By: gisreportsonline.com

अभी ताजा मामला Vietnam और Philippines के बीच में Spratly Islands और Paracel Islands पढ़ते हैं जोकि South China Sea का ही एक भाग है! China का शुरू से ही इन दोनों Islands को लेकर Vietnam और Philippines से विवाद रहा है! Beijing ने इसी विवाद पर आक्रामकता दिखाते हुए इस क्षेत्र में आने वाले 80 Islands का नाम और उनकी Geographical Identity को खुद ही बदल दिया जबकि यह विवादित जगह थी और इस पर China ने एकतरफा फैसला लिया साथ में उन देशों की आलोचना भी की जो इन द्वीपों पर अपना दावा करते थे!

जानिए Spratly Islands विवाद क्या है?

china, south china sea, Vietnam, Taiwan, Spartly Islands, Paracel Islands, aggression, dispute

Spartly and parcel islands Pic Credited by: britannica.com

China, Taiwan, Vietnam, the Philippines, and Malaysia यह देश हमेशा से Spratly Islands पर अपना अधिकार जताते आए हैं क्योंकि यह क्षेत्र तेल के अलावा अन्य प्राकृतिक संसाधनों का बहुत बड़ा स्रोत है! Brunei देश ने केवल Commercial Fishing के लिए ही इस क्षेत्र का प्रयोग करने के लिए अपना पक्ष रखा है!

जानिए Paracel Islands विवाद क्या है?

Paracel Islands,  China और Vietnam से समान दूरी पर South China Sea मैं है! China का मानना है कि 14th Century से ही यह द्वीप सॉन्ग वंश ( Song Dynasty) के शासनकाल के दौरान से China का ही हिस्सा था! इससे उलट वियतनाम का मानना है कि यदि इतिहास के तथ्यों को माना जाए तो 15th century से यह Vietnam वियतनाम का हिस्सा है! 1974 में  China और Vietnam मैं इस द्वीप को लेकर विवाद हुआ था जिसमें चीन ने इस द्वीप पर अपना अधिकार हासिल कर लिया था! इसका जवाब देते हुए 1982 वियतनाम ने अपनी राजनीतिक शक्तियां इस द्वीप तक लागू कर दी थी! तभी 1999 में Taiwan ने भी  पूरे क्षेत्र पर ही अपनी मांग रखी! 2012 से ये तीनों देश China, Taiwan और Vietnam इस क्षेत्र मैं सरकारी इमारतें, व्यापार, यातायात और सैनिक शक्तियां बढ़ाकर अपना अधिकार जमाने का प्रयास करते रहते हैं!

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top
// Infinite Scroll $('.infinite-content').infinitescroll({ navSelector: ".nav-links", nextSelector: ".nav-links a:first", itemSelector: ".infinite-post", loading: { msgText: "Loading more posts...", finishedMsg: "Sorry, no more posts" }, errorCallback: function(){ $(".inf-more-but").css("display", "none") } }); $(window).unbind('.infscr'); $(".inf-more-but").click(function(){ $('.infinite-content').infinitescroll('retrieve'); return false; }); $(window).load(function(){ if ($('.nav-links a').length) { $('.inf-more-but').css('display','inline-block'); } else { $('.inf-more-but').css('display','none'); } }); $(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });