Uncategorized

क्या दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी Huawei बंद होने वाली है?

2019 में ट्रम्प प्रशासन ने एक बड़ा कदम उठाते हुए अमेरिकी कंपनियों पर ऐसी विदेशी कंपनियों से व्यापार करने पर पाबंदी लगा दी, जो देश की सुरक्षा के लिए खतरा साबित हो सकती थीं। वर्ष 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन की “खतरनाक” व्यापार नीतियों के खिलाफ आवाज़ उठाना शुरू किया था। वर्ष 2018 में इसी के कारण अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर शुरू हुई थी, और इसी ट्रेड वॉर में अमेरिका ने चीन की मेगा-टेक कंपनी हुवावे को अपना पहला निशाना बनाया।

दरअसल, मई 2021 में हुवावे के खिलाफ सबसे बड़ा एक्शन लेते हुए ट्रम्प प्रशासन ने हुवावे को होने वाले सेमीकंडक्टर एक्स्पोर्ट्स पर प्रतिबंध लगा दिया था।

इस प्रतिबंध के बाद हुवावे के Consumer Business के CEO नेने कहा था कि अब उनके पास फोन निर्माण के लिए चिप्स की कमी हो गयी है और वे हुवावे के फोन में इस्तेमाल किए जाने वाली किरीन चिप्स का निर्माण नहीं कर पा रहे हैं। कंपनी की तरफ से यह भी कहा गया कि आने वाला Huawei Mate 40 फोन आखिरी ऐसा फोन होगा जिसमें किरीन चिप्स का इस्तेमाल किया जाएगा। एक्स्पर्ट्स का मानना है कि हुवावे के पास अगले साल की शुरुआत तक के इस्तेमाल के लिए चिप्स मौजूद हो सकती हैं। इसलिए यहाँ बड़ा सवाल है कि उसके बाद कंपनी का क्या होगा?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close