Uncategorized

श्री राम के तीन भाइयों के साथ-साथ एक बहन भी थी, जिन्हे वेदो और युद्ध तकनीकों का ज्ञान भी था

shree ram ki bahan koun thi, shree ram ki bahan, shree ram

shree ram ki bahan koun thi: रामानंद सागर की रामायण वाल्मीकि रामायण पर आधारित है! वाल्मीकि रामायण में श्री राम की बहन शांता का कोई वर्णन नहीं मिलता है जबकि रामायण के अन्य संस्करणों में शांता का वर्णन मिलता है! इनमें बताया गया है कि शांता दशरथ और कौशल्या की पुत्री थी, जिन्हें अंग देश के रराजा रोमापाड़ा और वर्षिनी ने गोद ले लिया था!

श्री राम की बहन शांता को वेदों कला और युद्ध तकनीक का पूर्ण ज्ञान था! एक दिन जब राजा रोमापाड़ा अपनी पुत्री शांता के साथ वार्तालाप कर रहे थे तब एक ब्राह्मण उनसे मानसून के दौरान खेती के लिए मदद मांगने आए! ऐसा माना जाता है कि राजा रोमापाड़ा ने उस ब्राह्मण की बात को तवज्जो नहीं दी जिसके कारण इंद्र देवता क्रोधित हो गए और वह उस ब्राह्मण की बेइज्जती को बर्दाश्त नहीं कर पाए इसी कारण राजा रोमापाड़ा के राज्य में उम्मीद से कम बरसात हुई और वहां सूखा पड़ गया!

तब अंग देश के राजा रोमापाड़ा शृंग ऋषि की शरण में गए और श्रृंगी ऋषि ने इंद्र देवता को प्रसन्न करने के लिए एक यज्ञ का आयोजन किया! जिससे इंद्र देवता प्रसन्न हुए और अंग राज्य में बारिश हुई! तब अंग देश के राजा रोमापाड़ा ने प्रसन्न होकर अपनी पुत्री का विवाह श्रृंगी ऋषि से करवा दिया!

इसी दौरान अयोध्या के राजा दशरथ अपने राज्य और अपने कुल को आगे बढ़ाने के लिए एक पुत्र चाहते थे! जिसके लिए उन्होंने शृंग ऋषि से यज्ञ करवाया ऐसा माना जाता है कि राजा दशरथ के जिंदगी भर के पुण्य इस यज्ञ में आहुति चल गए थे जिससे उनको चार पुत्र श्री राम, श्री लक्ष्मण, श्री भरत और श्री शत्रुघ्न की प्राप्ति हुई! ऐसा माना जाता है कि राजा दशरथ के अंतिम समय में उनकी देखभाल श्री राम की बहन शांता ने ही की थी!

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top
// Infinite Scroll $('.infinite-content').infinitescroll({ navSelector: ".nav-links", nextSelector: ".nav-links a:first", itemSelector: ".infinite-post", loading: { msgText: "Loading more posts...", finishedMsg: "Sorry, no more posts" }, errorCallback: function(){ $(".inf-more-but").css("display", "none") } }); $(window).unbind('.infscr'); $(".inf-more-but").click(function(){ $('.infinite-content').infinitescroll('retrieve'); return false; }); $(window).load(function(){ if ($('.nav-links a').length) { $('.inf-more-but').css('display','inline-block'); } else { $('.inf-more-but').css('display','none'); } }); $(window).load(function() { // The slider being synced must be initialized first $('.post-gallery-bot').flexslider({ animation: "slide", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, itemWidth: 80, itemMargin: 10, asNavFor: '.post-gallery-top' }); $('.post-gallery-top').flexslider({ animation: "fade", controlNav: false, animationLoop: true, slideshow: false, prevText: "<", nextText: ">", sync: ".post-gallery-bot" }); }); });